26 January 2020 Speech Anchoring Script in Hindi English {Republic Day}

26 January 2020 Speech in Hindi English for Kids Students: Hello friends, First of all We wish you a Happy Republic day to all of you, Are you looking for Gantantra Diwas par Bhashan Anchoring Script Essay Kavita in Hindi English or in Punjabi Language then you need not to worry about it. Because we have written more than 1000 words republic day speech in Hindi and english Language. Some of the School kids have approached us for the speech because they are going to take participate in the republic day function. So we have written more than Republic Day Speech 1000 words bhasan in hindi, they can get ideas from these hindi and english speech. 

26 January is around the corner, Kids and School students specially participates in the school function on the occasion on Republic day and they have to prepare speech anchoring script and essay for this special day.  They can prepare speech for their school function from the below speech.  And can also use this speech in anchoring script.

{Republic Day} 26 January Speech 2020 Essay in Hindi English

Republic Day 26 January Speech in Hindi Bhasan Anchoring Script 2020 for kids

Republic Day 26 January Speech in Hindi Bhasan Anchoring Script 2020 for kids

Republic Day 2020 26 January Speech Essay in English

Good Morning Sir/Mam,

Respected head of the organization (say principal), colleagues/ teachers and my dear students /friends, I wish you all a delightful morning today. We all know that we have assembled there to celebrate the Republic Day of India. In the year of 1950, all the Indians were loaded with happiness as the Constitution of India came into force on this day. All and all, India became a republic country on this special day. Thus, we all commemorate the values of Indian people and the spirit which makes us feel proud of being Indian. Moreover, we all appreciate the efforts of Baba Saheb Bhim Rao Ambedkar on this precious day as he played a vital role in making this constitution being the head of its drafting committee. But, this is not our sole duty to decorate the government buildings and hoisting our national flag at various places however there are a lot of more responsibilities which we all need to understand.

In general, most of the people endorse happiness on this day only because it is celebrated as a National holiday every year, however, ignore the purpose on which we all must be focusing. It is not hidden from someone that the Republic Day term was coined just to make us proud of our constitution. But, we all must think that do we feel proud of being an Indian? If yes, then why we all are leaving our own country and devoting our contribution towards the economy and development of foreign countries. Thousands of people are migrating from our country are leaving the country for various reasons as everyone is just mad behind corruption. There are only a few people who are doing their work with honesty due to which citizens are not feeling a safe and secure future in their own country. Rather than trying to make things right, they follow another path where they feel escaping from things is the best way to live a happier life. At least the populace of India must try to keep this country free from the social damages.

Also See: Republic Day Quotes Images and wishes

Though every responsible citizen of India wishes to contribute, they face trouble in finding the right path. But, we all must know that electing a wise and right head is where we can give our best. We must maintain the richness of our heritage and culture if we call ourselves Indians. On the 70th Republic Day, we all should pledge to elect the idealism of our democracy. In actual, elections are not merely a political exercise however it is such a platform with which we can proudly enjoy our freedom. A sacred act of voting must be done by keeping the hopes of better India in mind and by thinking at a broad level. To build a developed society, we all should seek the best head by using the wisdom which lies in the brains of every person. India has always been united and integrated due to which we got free from slavery. Now, it becomes our duty to respect the sacrifices of our ancestors who have borne a lot of plights to make us free from the kingdom of foreigners. We cannot let their sacrifices go waste. Our freedom fighters must be our ideals who have set an example by making the impossible things possible for us.

These are the reasons due to which we all celebrate this day with full enthusiasm every year. On this sacred day, I want to ask all our youth to study well and endow our country with the best future possible. In our country where people are struggling a lot to save themselves from natural disasters, we all should pledge to save our Earth as well. The reason behind it is that we are not only the children of mother India but our first mother is Earth and we must not do any such action which can destroy the lives of our future generations. Not only the natural resources, but we should also conserve the moral values for our coming generations so that they can feel proud of us as we feel of our ancestors. Therefore, our Republic day celebrations are incomplete without a salute to our freedom fighters. This is the reason due to which 21 gun salute is given after the flag hoisting on any national day. Our constitution has not only given us freedom but equality as well. It is not only in the words, but we can also witness the women competing with the men in almost every field. Right from school education to offices, women have excelled equally everywhere. Apart from this, women are also outperforming men in various sectors. But, there are still such localities that exist where people are not ready to give equalities to women. If you are also living in any such communities, then you must raise voice for yourself and others as well.

Over and all, it becomes our duty to keep our India free from social problems. Talking about all the students and children, they must make their families proud by doing hard work in studies. This is the basic responsibility which can endow us with fruitful results in the future. Another thing which is quite important to understand is that children are the future of a country, therefore, you should get as much as you can get from education. Education is not only about getting degrees and certificates however it is a way beyond it. Education teaches us to become a good citizen and a better human being with the fleeting dates on the calendar. Another thing where you can contribute by keeping your near and dear ones away from drugs. Drugs are destroying various lives rapidly, therefore, it becomes our responsibility to put a halt on these. All in all, we are the constitution and we are the government therefore, we must protect its heritage at any cost. With these words, I will wrap my speech and wish you all a very happy Republic Day again. May you touch the heights of success very soon.

Thank you

Student Name:

Class :

Section:

Roll Number:

Republic Day 2020 26 January Speech Essay in Hindi

श्रीमान प्रधानाध्यापक जी,

अतिथिगण, शिक्षकगण और मेरे प्यारे बच्चो, सबसे पहले मैं आप सभको गणतंत्र दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं देता हूँ | आशा करता हूँ कि आप सब भली भाँति जानते होंगे कि आज हम सब यहां 26 जनवरी को हर साल इसीलिए बड़ी ही धूम धाम से मनाते हैं क्यूंकि इस दिन भारत को एक लिखित संविधान के रूप में कानून और अधिकार प्राप्त हुए थे | मैं आप सबको बताना चाहता हूँ कि इस वर्ष हम 70वाँ गणतंत्र दिवस मनाने कि लिए एकत्रित हुए हैं | यूँ तो भारत 1947 में ही एक आज़ाद देश बन गया था लेकिन 26 जनवरी 1950 कि दिन इसे एक लोकतांत्रिक देश का दर्जा दिया गया | इसके प्रवर्तन के बाद, भारत संघ आधिकारिक तौर पर समकालीन गणतंत्र भारत बन गया, जिसने भारत सरकार अधिनियम 1935 को मूलभूत शासकीय दस्तावेज़ में बदल दिया था। हमारे देश को संविधान द्वारा एक संप्रभु, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी और लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित किया गया था। हमारा संविधान भारत के नागरिकों को न्याय, स्वतंत्रता और उनके बीच समानता के बारे में आश्वस्त करता है।भारत के संविधान के अनुसार सभी भारतीय एक समान के दर्जे के हकदार हैं भले ही वो किसी भी जाती, धर्म या लिंग से संबंध रखते हों | इसीलिए भारत को विश्व का सबसे बड़ा प्रजातंत्र  माना गया है |

लेकिन चिंता के विषय यह है कि भारतीय नागरिक अपने कर्त्वयों को भूलते जा रहे हैं| जिसके रहते देश से हजारों लोग पलायन कर रहे हैं, विभिन्न कारणों से देश छोड़ रहे हैं क्योंकि हर कोई भ्रष्टाचार के पीछे पागल है। कुछ ही लोग हैं जो ईमानदारी के साथ अपना काम कर रहे हैं जिसके कारण नागरिक अपने देश में सुरक्षित भविष्य का अनुभव नहीं कर पा रहे हैं। चीज़ों को सही बनाने की कोशिश करने के बजाय, वे एक और रास्ता अपनाते हैं जहाँ उन्हें लगता है कि चीज़ों से भागना एक खुशहाल ज़िंदगी जीने का सबसे अच्छा तरीका है। कम से कम भारत की आबादी को इस देश को सामाजिक क्षति से मुक्त रखने का प्रयास करना चाहिए। ये हर नागरिक की जिम्मेवारी बनती है कि वो भारतीय संविधान की मर्यादा को कायम रखने की हर सम्भव कोशिश करे | हमारे स्वतंत्रता सेनानिओं ने हमें आज़ाद करवाने के लिए लाखों प्रयास किए हैं | इसीलिए हमें उनकी मेहनत को बेकार नहीं जाने देना चाहिए और अपने देश के विकास की ओर कदम बढ़ाने चाहिए |

हमारा देश के लिए पहला कदम तब होता है जब हम अपना कीमती वोट डालकर किसी नेता को विजयी बनाते हैं| गणतंत्र का अर्थ है देश में रहने वाले लोगों की सर्वोच्च शक्ति और केवल जनता को अपने प्रतिनिधियों को राजनीतिक नेता के रूप में चुनने का अधिकार है जो देश को सही दिशा में ले जाए | गणतंत्र हमें समानता और बाकी सभी अधिकारों से परिचित करवाता है | ये केवल मेरी जाती राय नहीं बल्कि मतदान के अधिकार और चुनाव के महत्व पर जोर देते हुए, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भी कहा था कि एक चुनाव “सिर्फ एक राजनीतिक अभ्यास” नहीं होता बल्कि एक चुनाव ज्ञान और कार्रवाई के लिए एक सामूहिक आह्वान है | इसी के साथ उनके पिछले वर्ष के भाषण में ये भी सुनने को मिला था कि  “नवीकरण साझा और समतावादी समाज के लक्ष्यों और आशाओं के लिए एक पुनर्मिलन” का प्रतिनिधित्व करता है।

26 january Speech in Hindi 2020 for Kids Students Teachers Republic Day Bhasan

26 january Speech in Hindi 2020 for Kids Students Teachers Republic Day Bhasan

चूंकि इस दिन भारत को पूर्ण स्वराज मिला था, इसलिए हम इस दिन के महत्व को बिल्कुल भी नकार नहीं सकते | इस दिन राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली में राजपथ पर एक मुख्य उत्सव मनाया जाता है, जिसका प्रतिनिधित्व भारत के राष्ट्रपति और एक किसी अन्य देश के मुख्य अतिथि करते हैं | भारत को श्रद्धांजलि देने के लिए राजपथ पर एक भव्य समारोह आयोजित किया जाता है। आज के दिन राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में, भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को 21 तोपों की सलामी दी जाती है और फिर राष्ट्रीय गान गाया जाता है। भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा एक विशाल परेड भारत के राष्ट्रपति और मुख्य अतिथि के सामने आयोजित की जाती है। केवल वही नहीं बल्कि हमारे स्वतंत्र सेनानिओं ने भी हमारे लिए बहुत कुर्बानियां दी हैं | अपने देश के प्रति उनके बलिदान को हम कभी नहीं भूल सकते। उन्होंने ऐसा इसलिए किया ताकि उनकी आने वाली पीढ़ियां संघर्ष के बिना जी सकें और देश आगे बढ़े। हमें ऐसे महान अवसरों पर उन्हें याद करना चाहिए और उन्हें सलाम करना चाहिए।

आज के दिन हम उन महान व्यक्तियों को भी सलाम करते हैं जिनके कारण इस संविधान को बनाने का सपना मुक्कमल हुआ था | इसका सबसे ज्यादा श्रेय श्री भीम राओ आंबेडकर जी को जाता है जिन्होंने भारतीय संविधान की रचना के प्रमुख कर्तव्य को अपने हाथों में लिया और इसे भली भाँति संपन्न भी किया | संविधान की प्रारूप समिति में केवल डॉ। बी।आर। अंबेडकर ही नहीं बल्कि जवाहरलाल नेहरू, गणेश वासुदेव मावलंकर, सी। राजगोपालाचारी, सरदार वल्लभभाई पटेल, संजय फाकी, राजेंद्र प्रसाद, बलवंतराय मेहता,  नलिनी रंजन घोष, कन्हैयालाल मुंशी,  मौलाना अबुल कलाम आज़ाद, और श्यामा प्रसाद प्रसाद जैसी महान शख्शियतें भी शामिल थीं। आज इन्ही लोगों की बदौलत ही  यह संभव हो पाया है कि हम अपने मन से सोच सकते हैं और किसी के बल के बिना अपने राष्ट्र में स्वतंत्र रूप से रह सकते हैं।

हम सभी को स्वतंत्रता सेनानियों और हमारे महत्वपूर्ण नेताओं से प्रेरणा लेने की कोशिश करनी चाहिए जिन्होंने असंभव चीजों को संभव करके एक मिसाल कायम की है। चूंकि अभी आप वोट डालने या नेता चुनने में अपनी भागीदारी नहीं निभा सकते लेकिन आप अपने घरवालों को भृष्टाचार से दूर रहने की शिक्षा तो दे ही सकते हैं। यही नहीं, हालाँकि हमें जहाँ भी आवश्यक हो, अपनी राय देने में भी अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहिए ताकि हम अपने देश को सामाजिक अन्याय और समस्याओं से मुक्त रख सकें। छात्र होने के नाते, ये काफी स्व्भविक है कि आप अपने देश कि प्रति निष्ठां कैसे दिखाएं। उसके लिए आप पढ़ाई में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके देश के प्रति अपने योगदान को समर्पित कर सकते हैं।

इसी के साथ मैं आप सबको गणतंत्र दिवस की एक बार फिर बधाई देता हूँ और मुझे  अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का मौका देने के लिए आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूँ |

जय हिन्द |

Republic Day Speech In Hindi 2020

माननीय मुख्य अतिथि, मेरे अध्यापकगण और मेरे साथियों आज भारत अपना 71वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। गणतंत्र दिवस एक राष्ट्रीय पर्व है जिसका किसी धर्म और जात से कोई लेना देना नहीं है। इसे सभी धर्मों के लोग मनाते हैं। इसी दिन यानी 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था जिसे बाबा साहब डॉक्टर भीम राव अंबेडकर ने बनाया था।

आज के दिन हमारा देश पूर्ण गणतंत्र बना था। आज भारत को पूर्ण प्रभुता संपन्न गणतंत्र घोषित किया गया था। 26 जनवरी 1930 के दिन ही कांग्रेस के अधिवेशन में भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में अंग्रेजों से पूर्ण स्वराज हासिल करने का प्रस्ताव पारित किया गया था। गणतंत्र दिवस पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन इसका मुख्य आयोजन देश की राजधानी दिल्ली में किया जाता है। इस दिन सबसे पहले भारत के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति पर देश के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं। इसके बाद भव्य परेड निकाली जाती है जो देश की एकता और अखंडता के साथ भारत की सैन्य ताकत को भी दर्शाती है।

Gantantra Diwas Par Hindi Bhashan

आदरणीय अतिथिगण और मेरे साथियों गणतंत्र दिवस भारत का राष्ट्रीय पर्व है इसे सभी धर्मों के लोग समान भाव से मनाते हैं। इसका संबंध किसी धर्म या जाति से न होकर राष्ट्र से होता है इसलिए इसे राष्ट्रीय पर्व कहा जाता है। स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस और गांधी जयंती हमारे राष्ट्रीय पर्व हैं। ये राष्ट्रीय पर्व भारतीय जनमानस को एकता के सूत्र में पिरोते हैं। ये पर्व उन शहीदों देशभक्तों का स्मरण कराते हैं जिन्होंने राष्ट्र की स्वतंत्रता, गौरव और इसकी प्रतिष्ठा को बनाए रखने के लिए अपने प्राण की आहुति दे दी।

26 जनवरी 1950 को भारत का अपना संविधान लागू हुआ था। इससे पहले भारत में अंग्रेजों के नियम कायदे ही चल रहे थे। भारत के संविधान को बनाने में बाबा साहब डॉक्टर भीम राव अंबेडकर का बड़ा स्थान है। गणतंत्र दिवस हम सभी भारतीयों के अंदर हर्ष, उल्लास और नवीन चेतना का संचार करता है। देशवासियों को यह संकल्प लेने के लिए भी प्रेरित करता है कि वो अमर शहीदों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देंगे और अपने देश की रक्षा, गौरव और उत्थान के लिए सदा समर्पित रहेंगे।

End the speech with a positive note and thank the audience for listening to it.

  1. Why do we celebrate Republic Day on January 26th?
    It was on January 26, 1950, India became an independent republic country and the constitution of India came into effect. Hence, Republic day is celebrated on 26th of January every year.
  2. How do we celebrate Republic Day?
    Mainly, the Republic Day celebration is held in New Delhi with magnificent parades before the President of India. Republic Day is celebrated throughout the country in schools, offices, etc.
  3. When did India get Republic?
    India became a republic country on January 26, 1950. India marks its 71st Republic Day on January 26, 2020.
  4. Who are the Chief Guest of 71st Republic Day 2020?

          Brazil President : Jair Bolsonaro 

Updated: January 25, 2020 — 9:05 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *